धामनोद का विकास खो गया, नालियां बनाने का बजट नहीं, ठेकेदारो से तगडा तालमेल… चुनावी साल है ग्रामीण विधानसभा में विकास दौड रहा है

कमलेश पंवार 

कुछ भी ठीक नहीं चल रहा है। एक तरफ धामनोद की फुल वाली बहुमत नगर सरकार बने आज 9 माह हो गए पर नगर की स्थिति जैसी की तैसी पड़ी है इन नौ माह में नगर परिषद अधिकारी की अदला-बदली का ही सिलसिला चलता रहा। जनप्रतिनिधियों के ढिग्गे हाकने का सिलसिला जारी है निर्माण ठेकेदारों पर इनका बहुत गहरा तालमेल है थोड़ा तुम थोड़ा मैं। धामनोद का विकास खो गया है नालियां बनाने का बजट नहीं है परंतु नगर परिषद शासन के कार्यक्रमों पर खूब पैसा लुटा रही है बिना जीएसटी के बहुत बिल पास हो रहे हैं। 9 माह की इस नगर में कुछ काम नहीं हुए, पार्षद इस नगर सरकार के मुखियाओं से नाराज दिख रहे हैं। अपनी मीठी- मीठी बातों से गुमराह कर स्वयंभू बनकर बैठे हैं। इंजीनियर साहब को कभी भी कुछ गलत दिखता ही नहीं है क्या होगा धामनोद का ?

चुनावी साल….

चुनावी साल है मास्टर जी इस 2023 में ही ग्रामीण विधानसभा क्षेत्र में सारा विकास करवा देंगे क्या मालूम फिर मौका मिले ना मिले। कुल पांच साल के कार्यकाल में यह अंतिम साल इतना विकास लेकर आएगा ग्रामीण विधानसभा की जनता को अब मालूम पड़ा। कई रोड बन रहे हैं तो कई सामुदायिक भवन तो कई स्वास्थ्य सेन्टर ,कई आदेश तो कई लोकार्पण, शिलान्यास वाह मास्टर जी वाह..नामली मंडल का धामनोद नगर मास्टर जी की रेंज से बाहर है लगता, क्योंकि धर्म की नगरी धामनोद वाले तो अधिकांश फुल का ही बटन दबाते है। जहां हाथ का बटन दबाते है विकास और आदेश तो सिर्फ उन क्षेत्रों में ही धड़ाधड़ हो रहा है। लोकप्रिय मा. जी आबादी एवं आसपास क्षेत्र के गांवों के अनुसार प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र को सामुदायिक में बदलिये, जहां एम्बुलेंस के साथ 24 घंटे स्थाई डाक्टर और डिलीवरी धामनोद में हो सके। नगर के शासकीय खेल मैदान पर स्टेडियम का आदेश भी करवाइये। ऐसे कई वंचित कार्य इस नगर में करवाइये धामनोद की जनता की मांग है।

इस बार पहले इतनी लीड तो नहीं मिलेगी हो सकता है इस बार धामनोद की शिक्षित, जागरूक और स्वाभिमानी जनता अपना रुख बदल दे। क्योंकि इस बार भी शासकीय अधिकारियों के मैदान में उतरने की चर्चा जोरों पर है एक तरफ CEO साहब है तो दुसरी तरफ SDOP साहब…खैर जो भी हो समय पर स्पष्ट होगा इंतजार कीजिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

इन्हे भी पढ़ें